शिव जी को बस एक लोटा जल में यह 1 चीज़ मिलाकर चढाये, तुरंत राजयोग बनेगा, इच्छापूर्ति हो जाएगी... - Hindi Nuskhe

शिव जी को बस एक लोटा जल में यह 1 चीज़ मिलाकर चढाये, तुरंत राजयोग बनेगा, इच्छापूर्ति हो जाएगी…

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का।

काफी लोग ऐसे होते हैं कि भगवान शिव को नित्य प्रतिदिन बिल्कुल रोज ही जल चढ़ाते हैं लेकिन उनकी समस्याओं में बिल्कुल भी छुटकारा नहीं हो पाता है आज की डेट में हम आपको बताएंगे कि महा शिव पुराण के अनुसार किस प्रकार जल चढ़ाना चाहिए क्या उसकी विधि होती है और कौन सी कास्ट चीज है जिसे अगर आप जल में मिलाकर चढ़ाते हैं तो इससे बहुत ही जल्दी शीघ्र ही मनोकामना पूर्ण होती है।

काफी लोगों को इसके बारे में नहीं पता होता है इसीलिए लाभ नहीं उठा पाते हैं लेकिन हमें हमेशा ही खास चीजों को बताते हैं इसलिए ध्यान सुनते जाए कि किस प्रकार जल चढ़ाने की विधि होती है और कौन-कौन सी चीजें समस्याओं के अनुसार बिल्कुल भगवान शिव को चढ़ाने मात्र से हर एक समस्या में छुटकारा प्राप्त होता है।

तो दोस्तों आपको बता दें कि महाशिवपुराण में बताया गया है कि भगवान शिव को तीन प्रकार से जल चढ़ाने वाला व्यक्ति जो होता है वह परम सौभाग्य को प्राप्त करता है यानी कि उसके जीवन में राज योग बन जाता है और फिर चाहे उसके जीवन में कैसी भी समस्याएं हो कैसी भी तकलीफ हो पर निश्चित ही दूर होती है।

सबसे पहला जल तो यह होता है कि आपका जो अपना घर है अपने घर का ही जल आपको शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए काफी लोग इन गलतियों को करते हैं कि मंदिर तो जाते हैं जल भी चढ़ाते हैं लेकिन वहीं से लोटे में जल भर लेते हैं यानी कि मंदिर का ही जल शिवलिंग पर चढ़ा देते हैं तो इससे कोई भी प्रकार की किसी भी समस्या में लाभ नहीं मिल पाता है।

अगर आप चाहते हैं कि आपकी मदद हो भगवान शिव आपकी मदद करें और आप किस थारे घर की समस्याओं को दूर कर दे तो आपको अपने ही घर का जल चढ़ाना चाहिए और वही जल आपको चढ़ाना है जिसको आप पीते हैं।

ऐसे ही नल में से भरकर अफजल को बिल्कुल भी ना चढ़ाएं अपने पीने वाला पानी लेकर वही जल आपको रोज शिवलिंग पर चढ़ाना है केवल इतना करने मात्र से उस घर में जितनी समस्याएं होती हैं बस तुरंत दूर हो जाती हैं।

अब दूसरी चीज नहीं है शिव पुराण में बताया गया है कि अगर एक लोटा जल में इत्र को डाल दिया जाए तो इससे उस जल की कॉपी ज्यादा शक्तियां बढ़ जाती है क्योंकि इधर में ऐसी खास अद्भुत शक्ति होती है जैसे कि फूलों की तरह होते हैं अगर इन्हीं तरफ को जल में मिलाकर आप चढ़ाते हैं तो इससे संपूर्ण समस्याएं समाप्त होती हैं।

जैसे कि अगर आपकी जिंदगी में प्रेम संबंधी समस्याएं चल रही हैं तो ऐसे में आपको लौटे में गुलाब का इत्र मिलाना है बस प्रेम संबंधी सभी समस्याओं में फिर लाभ प्राप्त होता है जैसे की बहुत सारी स्त्री होती है जो अपने घर में खुश नहीं रह पाती है उनकी उनके पति से बनी नहीं पाती है तो ऐसे में एक लोटा जल में गुलाब का इत्र मिलाकर अवश्य ही चढ़ाया करें।

और अगर आपके जीवन में शत्रु आपको बहुत ज्यादा परेशान करते हैं तो ऐसे में एक लोटा जल में आपको चमेली का इत्र उसमें मिलाना है बस इतनी छोटी सी ही चीज को अगर आप करते हैं तो इससे शत्रु बिल्कुल आप से दूर हट जाते हैं और उनके मन में भी एक प्रेम कथा भाव यानी कि दोस्ती का स्वभाव आपके लिए बनने लग जाता है तो इस चीज को आप अवश्य ही क्या करें।

अब तीसरी चीज यह है कि बेलपत्र का जो जल होता है अति प्रिय भगवान शिव को होता है इससे संपूर्ण मनोकामनाएं तुरंत ही पूरी होती है जैसे कि अगर आपके कोई ऐसी मनोकामना है जिसे आपको पूरा करवाना है तो आपको केवल इतना करना है कि ऐसा बेलपत्र आपको लेना है जिसमें 5 भर्तियां होती हैं।

बस उसी बेलपत्र को जल मिलाकर भगवान शिव को आप चढ़ा दें इससे तुरंत ही जो भी मनोकामना बोलते हैं और शीघ्र ही पूरी हो जाती है यही दो तीन प्रकार के जल होते हैं यह भगवान शिव को अति प्रिय होते हैं और इससे जैसा हमने आपको बताया कि अलग-अलग समस्याओं के लिए आप अपनी मनोकामना को पूर्ण करवा सकते हैं।

अब जैसे कि काफी लोग ऐसे होते हैं कि उनका व्यवसाय नहीं चलता है नौकरी नहीं मिल पाती है तो ऐसे में उन्हें यह करना है कि एक लोटा जल में रजनीगंधा जो होता है रजनीकांत का जो फूल होता है उसका इधर आपको एक लोटा जल में मिलाकर चढ़ाना है।

लगातार 11 दिन तक अगर इस प्रकार किया जाता है तो इससे 11 दिन के भीतर भीतर जो भी आपकी नौकरी से संबंधित समस्याएं होती हैं नौकरी नहीं मिल पाती है तो नौकरी प्राप्ति के योग बन जाते हैं और अगर आपका व्यवसाय नहीं चल पा रहा है तो उससे व्यवसाय भी बहुत तेजी से चलने लग जाता है जिससे लाभ की प्राप्ति होने लग जाती है।

काफी लोग तो ऐसे होते हैं क्योंकि दुकान को दान दिया जाता है उन्हीं के शत्रुओं द्वारा जो उन से जलते हैं ऐसी मैं आपको केवल इतना करना है कि एक लोटा जल में आपको रजनीगंधा का जो इतना होता है उसे मिलाकर चमेली का इत्र भी उसमें मिलाना है और शिवलिंग पर यह रोजाना आपको चढ़ाना शुरू कर देना है।

इससे काफी ज्यादा ही लाभ की प्राप्ति होती है व्यवसाय में बढ़ोतरी होती है और शत्रु भी आपको ना क्यों नजर लगा पाते हैं और ना ही आपको कोई हानि पहुंचा पाते हैं।

जितनी भी चीजें हमने आपको बताई हैं इन्हें आप अवश्य ही ध्यान रखें और इनका लाभ उठाएं इस खास जानकारी को अन्य लोगों के साथ भी अवश्य शेयर कर दें जिससे सभी लोग इस जानकारी का लाभ उठा सके क्योंकि जब आप शेयर करते हैं तो दूसरे लोगों की मदद होती है और आपके गुड करमास बढ़ते हैं।

इसी प्रकार की अच्छी जानकारी रोजाना पढ़ने के लिए हमारे पेज हिंदी नुस्खे को अभी लाइक करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!