जिसकी नींद सुबह 3 से 5 के बीच खुलती है तो वो एक बार को जरूर पढ़े... - Hindi Nuskhe

जिसकी नींद सुबह 3 से 5 के बीच खुलती है तो वो एक बार को जरूर पढ़े…

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से।

दोस्तों क्या आपकी नींद सुबह 3:00 से 5:00 के बीच खुलती है अगर ऐसा है तो आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े।

आज हम आपको बताएंगे भगवान श्री कृष्ण के अनुसार 3:00 से 5:00 के बीच में जागने वाली मनुष्य के साथ ऐसा क्या होता है जो उसे संसार के सभी मनुष्यों से अलग बना देता है।

दोस्तों जब ईश्वर ने इस सृष्टि की रचना की थी तब उन्होंने कई बातें अधूरी छोड़ दी थी उनके प्रश्नों को अंतरित रखा था और कई रहस्य उनको अनसुलझा ही रहने दिया था और यह मनुष्य पर ही छोड़ दिया था कि वह कैसे उन अधूरी बातों को पूरा करता है कैसे उन सभी अनुत्तरित प्रश्नों का उत्तर ढूंढता है और उन सभी अनसुलझे रहस्य को कैसे सुलझाया है।

दोस्तों हमारे साथ अच्छा या बुरा जो भी होता है या दिन भर में हमारे साथ जो भी घटनाएं होती है उसमें ईश्वर की मर्जी और उनका ही छुपा हुआ कोई संदेश होता है यदि हमारे मन में ईश्वर के प्रति आस्था और विश्वास को समझ सकते हैं।

दोस्तों कई बार हम में से कई लोग दुर्भाग्यवश किसी दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं हमारा बड़ा नुकसान हो जाता है या फिर हम किसी परेशानी या मुसीबत में फंस जाते हैं तो निश्चित ही ईश्वर ने हमें इसकी पूर्व सूचना संकेतिक रूप से किसी न किसी माध्यम के द्वारा अवश्य ही दी होती है और ईश्वर के इसी संकेतों को हम समझ नहीं पाते हैं।

यह संकेत हमें अनेकों माध्यम से मिलते हैं जैसे हमारे आसपास यह हमारे साथ होने वाली असामान्य बातें हमारे घर के किसी भी व्यक्ति या बड़े बुजुर्गों द्वारा हमें किसी काम को करने से या घर से बाहर या दूसरे शहर जाने से रोकना किसी को भूलवश बहुत सारे पैसे दे देना या किसी भी कागजात पर बिना पढ़े साइन करने से मन ही मन घबराहट होना इत्यादि।

यहां तक कि हमारे सपनों में भी भविष्य में होने वाली घटनाओं के कई संकेत छिपे होते हैं यही नहीं हमारे साथ यदि कुछ अच्छा भी होने वाला होता है तो भी हमें ईश्वर के द्वारा कुछ संकेत मिलते हैं भगवान श्री कृष्ण ने गीता में कहा था कि ईश्वर इस सृष्टि के कण-कण में व्याप्त है बस हमें भी ईश्वर द्वारा बनाई गई इस सृष्टि में घटित होने वाली ऐसी ही छोटी-बड़ी घटनाओं पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

ईश्वर हमें प्रकृति के माध्यम से जो भी संकेत यह आदेश देते हैं उनका हमें पालन करना चाहिए ऐसी अनेक बातों या संकेतों में से एक बात अक्सर ही हम सभी के साथ होती है वह है सुबह ठीक 3:00 या 3:30 से 5:00 या 5:30 बजे के बीच अक्सर हमारी नींद का खुलना।

अब आप सोचेंगे कि इसमें ऐसी कौनसी अजीब सी बात है ऐसा क्या संदेश छिपा हुआ होता है क्योंकि नींद का किसी भी समय खुल जाना एकदम स्वाभाविक सी बात है और इसमें कोई भी अनोखी यह सामान्य बात नहीं है बिल्कुल सही बात है दोस्तों नींद का खुल जाना कोई आश्चर्य की बात नहीं लेकिन नींद का ठीक सुबह 3:00 से 5:00 के बीच खोलना जरूर ध्यान देने वाली बात है।

और इस समय अवधि में निश्चित रूप से कुछ खास बात तो अवश्य है आखिर क्या खास बात है 3:00 से 5:00 बजे की समय अवधि में आइए देखते हैं देखते हैं कि सुबह 3:00 से 5:00 के बीच का समय क्या ईश्वर यह संकेत देता है यह डरने वाली बात है यह खुश होने वाली।

दोस्तों अपने ब्रह्म मुहूर्त का नाम तो सुना ही होगा 3:00 से 5:00 के बीच का समय ब्रह्म मुहूर्त कहलाता है या यूं कहें तो सूर्योदय से करीब 2 घंटे पहले का समय ब्रह्म मुहूर्त कहलाता है भगवान श्री कृष्ण ने अपने आदेश में कहा भी है कि ब्रह्मा मुहूर्त दिन का सर्वश्रेष्ठ समय होता है और जो भी व्यक्ति प्रतिदिन इस समय पर उठ जाता है वह हमेशा ही उन्नति करता है।

दोस्तों श्री कृष्ण कहते हैं कि सृष्टि की रचना ब्रह्मा जी ने की थी तो आप 3:00 से 5:00 बजे का समय यानी ब्रह्मा मुहूर्त को निर्माण काल का समय भी कह सकते हैं इसी समय ब्रह्मांड के निर्माण का कार्य शुरू हुआ था इस समय आप भी अपने अंदर शक्ति और ऊर्जा का निर्माण कर सकते हैं अच्छे और सुंदर विचारों का निर्माण कर सकते हैं और हर तरह से स्वयं का पुनर्निर्माण करके ईश्वर को अपने समय या अपने अंदर महसूस कर सकते हैं।

आज की इस व्यस्त दिनचर्या में ब्रह्म मुहूर्त पर जागना बड़ा ही मुश्किल काम है और कई लोग बहुत ज्यादा कोशिश करके भी इस समय पर उठ नहीं पाते हैं ऐसे में यदि आपकी नींद ब्रह्म मुहूर्त में अपने आप ही खुल जाती हैं आप निश्चित रूप से बहुत ज्यादा भाग्यशाली है क्योंकि यह समय ईश्वर का समय माना जाता है इस चमत्कारी और अद्भुत समय में संपूर्ण वातावरण में एक ऐसी औरों की ऊर्जा और शक्ति व्यक्त होती है जो आप का संपूर्ण जीवन बदलने और संवारने का सामर्थ्य रखती है।

आयुर्वेद में भी इसे शुभ समय मना किया है आरोग्य की दृष्टि से भी इसे उत्तम माना गया है हमारे वेद और पुराणों में भी यह माना गया है कि ब्रह्म मुहूर्त में उठने वाले व्यक्ति को बल बुद्धि विद्या तथा आरोग्य की प्राप्ति होती है छात्रों के साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी देखा जाए तो सुबह के इस समय में ब्रह्मांड में भी ग्रह और नक्षत्रों के बीच कुछ चमत्कारी घटनाएं घटित होती है और वायुमंडल की स्वच्छ और निर्मल होती है।

अतः ब्रह्म मुहूर्त का विशिष्ट समय हमारी शरीर और आत्मा की शुद्धि के लिए सबसे उत्तम माना जाता है इसके साथ ही ऐसा माना जाता है कि ब्रह्म मुहूर्त के समय सभी देवता गण आत्मा से मनुष्य पर अपनी कृपा बरसाते हैं और मां लक्ष्मी अपने वाहन पर बैठकर पृथ्वी का भ्रमण करती है।

ब्रह्म मुहूर्त में जिस महिला का आंगन स्वच्छ और साफ होता है ऐसे घर में मां लक्ष्मी अवश्य ही प्रवेश करती है उस घर में सुख शांति और ऐश्वर्या दिलाती है और उस घर से प्लेस का नाश करती है।

दोस्तों क्या आप की भी नहीं सुबह 3:00 से 5:00 के बीच खुलती है तो कमेंट करके बताएं।

इसी प्रकार की अच्छी जानकारी रोजाना पढ़ने के लिए हमारे पेज हिंदी नुस्खे को अभी लाइक करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!